एमपिन प्राप्त करने की सरल प्रक्रिया - 5 मिनट में अपना एमपिन बनाएं

0

डिजिटल बैंकिंग लेनदेन के लिए (MPIN) जरुरी होता है, जो लोग पहली बार मोबाइल बैंकिंग एप्प का इस्तेमाल करते हैं उन्हें सबसे पहले mPIN बनाने का ऑप्शन आता है तब आप सोच में पड़ जाते हैं कि एमपिन नंबर क्या है, ( MPIN kaise prapt karein ) आज की इस पोस्ट में आप m पिन से जुडी सभी जानकारी जान जायेंगे चाहें आप अपना एमपिन भूल गए तो क्या करें, और यदि आप अब अपना नया M PIN बनाना चाहते है तो यहाँ आपको पूरा गाइड किया जायेगा। आप किसी भी बैंक के ग्राहक हों आप अपना Mpin बनाना इस पोस्ट को पढ़ते पढ़ते सीख जायेगें।

एमपिन के बिना नहीं होगा मोबाइल बैंकिंग! अभी बनाएं अपना एमपिन

    एमपिन का मतलब क्या होता है

    एमपिन (MPIN) एक पासवर्ड होता है जो आपके बैंकिंग लेनदेन की सुरक्षा के लिए उपयोग होता है। जब आप पहली बार मोबाइल बैंकिंग चालू करते हैं, तो आपको एक एमपिन बनाना होता है, जो आप खुद के मनपसंद चार अंकों का पासवर्ड बना सकते हैं। बैंकिंग भाषा में इसे 'एमपिन' कहा जाता है। एक बार एमपिन बन जाने के बाद, आपको अन्य बैंकिंग एप्लिकेशन में अपनी बैंक खाता लिंक करते समय फिर से एमपिन नहीं बनाना पड़ता है। यही एक एमपिन हर जगह काम करता है। यह एक चार-अंकीय गोपनीय संख्या होती है जो बैंक द्वारा आपकी बैंकिंग की सुरक्षा के लिए बनाई जाती है। इसका उपयोग केवल डिजिटल लेन-देन के लिए होता है, और बिना एमपिन दर्ज किए, आप कोई भी बैंकिंग ट्रांजैक्‍शन नहीं कर सकते। इसे यूपीआई पिन के नाम से भी जाना जाता है।

    एमपिन का फुल फॉर्म (MPIN Ka Full Form)

    एमपिन (MPIN) का पूरा नाम "मोबाइल पर्सनल आइडेंटिफिकेशन नंबर" (Mobile Personal Identification Number) होता है। यह एक 4 से लेकर 6 अंकों का एक गोपनीय संख्या होती है जो आपको ऑनलाइन बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग और ATM लेन-देन के लिए सुरक्षा प्रदान करती है। यह डेबिट कार्ड पिन से अलग होता है और इसका उपयोग केवल डिजिटल लेन-देन के लिए किया जाता है।

    Mpin से सम्बधित मुख्य पॉइंट 

    बिंदु विवरण
    आर्टिकल का नाम Mpin Kaise Prapt Karein
    MPIN का उद्देश्य आपके डिजिटल लेनदेन को सुरक्षित करना
    mPIN से लाभ अनधिकृत व्यक्तियों को आपके खाते तक पहुंचने और लेनदेन करने से रोकता है।
    एमपिन का उपयोग कौन कर सकता है वह सभी भारतीय नगरिक जो मोबाइल बैंकिंग का प्रयोग करते हैं
    एमपिन कैसे बनायें ऑनलाइन
    वर्ष 2024

    एमपिन (MPIN) के फायदे

    एमपिन (MPIN) के कई फायदे हैं जो आपके डिजिटल लेनदेन को आसान और सुरक्षित बनाते हैं. आइए जानते हैं एमपिन के कुछ मुख्य लाभ:

    • बेहतर सुरक्षा (Enhanced Security): एमपिन का उपयोग हमेशा आपके डिजिटल लेन-देन को सुरक्षित बनाता है। यह एक विशेष परत के रूप में काम करता है, जो आपके खाते को अनधिकृत पहुंच से बचाता है।
    • अधिक सुविधा (Added Convenience): एमपिन के प्रयोग से लेन-देन की प्रक्रिया आसान हो जाती है। आप अपने खाते से नकदी निकालने, ऑनलाइन खरीदारी करने, बिल भुगतान करने, और अपने खाते का प्रबंधन करने के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं।
    • सरलता (Simplicity): एमपिन प्राप्त करना और उपयोग करना सरल है। आप इसे अपने एटीएम, मोबाइल बैंकिंग ऐप, इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल, या बैंक की शाखा से आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।
    • सुरक्षा (Security): एमपिन का सबसे बड़ा फायदा सुरक्षा है। यह आपके बैंक लेन-देन को अनधिकृत पहुंच से बचाता है और हैकिंग से आपकी जमा राशि को सुरक्षित रखता है।
    • सुविधा (Convenience): एमपिन आपके लिए चीजों को काफी आसान बना सकता है। आप इसका उपयोग करके विभिन्न डिजिटल लेन-देन कार्य कर सकते हैं जैसे कि अपने खाते का बैलेस चेक करना पैसे भेजना, ऑनलाइन खरीदारी करना, बिल भुगतान करना, और अपने खाते का प्रबंधन करना।
    • आसानी (Ease of Use): एमपिन प्राप्त करना और उपयोग करना आसान है। आप इसे अपने एटीएम, मोबाइल बैंकिंग ऐप, इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल, या अपनी बैंक शाखा से प्राप्त कर सकते हैं।

    एमपिन कैसे प्राप्त करें? (Mpin Kaise Banaye)

    एम पिन प्राप्त करने के कई तरीके हैं जिनसे आप अपना MPIN प्राप्त कर सकते हैं इनमे से कुछ मुख्य तरीके हैं: 
    • बैंक मोबाइल एप्प के माध्यम से: आप अपने बैंक के मोबाइल एप्लिकेशन में जाकर एमपिन भूल गए (MPIN FORGET) ऑप्शन को चुन सकते हैं और उससे एमपिन पुनः प्राप्त कर सकते हैं।
    • SMS के जरिए: जब आप पहली बार बैंकिंग को रजिस्टर करते हैं, तो आपके मोबाइल पर एक SMS आता है जिसमें आपका डिफ़ॉल्ट एमपिन दिया जाता है।
    • इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से: आप इंटरनेट बैंकिंग वेबसाइट के माध्यम से भी ऑनलाइन अपना एमपिन बना सकते हैं।
    • बैंक से: आप अपने बैंक से भी एमपिन प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन ज्यादातर मामलों में बैंकिंग मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से ही एमपिन प्राप्त होता है। 

    Airtel Payment Bank Me Mpin Kaise Banaye

    • सबसे पहले अपने मोबाइल में एयरटेल थैंक्स एप्प को इंस्टॉल करें। यदि पहले से इंस्टॉल है, तो उसे अपडेट करें और मोबाइल एप्प को खोलें
    • नीचे से "Manage" ऑप्शन पर क्लिक करें और "View Account" ऑप्शन पर जाएं।
    • "Account" ऑप्शन पर क्लिक करें, फिर "My Account" ऑप्शन में जाएं।
    • नीचे स्क्रोल करें अब आपको दो ऑप्शन दिखेंगे "CHANGE MPIN" और "FORGOT MPIN"  यहाँ आप FORGOT MPIN पर क्लिक करें।
    • अब एक नया पेज खुलेगा, जिसमें अपना "FIRST NAME" और "LAST NAME" दर्ज करें।
    • अपनी जन्म तिथि का चयन करें, फिर "CONTINUE" बटन पर क्लिक करें।
    • "CREATE MPIN" बॉक्स में आपके द्वारा चुने गए चार अंकों का नंबर लिखें।
    • फिर, "CONFIRM MPIN" में वही नंबर दोबारा लिखें।
    • इसके बाद "CREATE NOW" पर क्लिक करें और "DONE" बटन पर क्लिक करें।
    इस तरह से आप एयरटेल पेमेंट बैंक का MPIN बना सकते हैं। और CHAANGE कर सकते हैं। 
    ध्यान दें: कि जो मोबाइल नंबर आपके बैंक में लिंक है, वह आपके मोबाइल में लगा होना चाहिए और उस नंबर पर रिचार्ज होना चाहिए, तभी MPIN बनेगा।

    एमपिन भूल गए तो क्या करें

    यदि आप अपना एमपिन (MPIN) भूल गए हैं, तो घबराएं नहीं! आप इसे आसानी से रीसेट कर सकते हैं। यहां बताया गया है कि आप कैसे Mpin को दोवारा से बना सकते हैं: इसके लिए आप निम्न चरणों का पालन करें।

    1. अपने बैंक का मोबाइल ऐप खोलें:

    सबसे पहले आप अपने बैंक के मोबाइल ऐप का करके अपना एमपिन रीसेट कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) का उपयोग करते हैं, तो आप "IPPB Mobile App" खोल सकते हैं। यदि आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के ग्राहक हैं, तो आप "SBI YONO App" खोल सकते हैं। इसी तरह, अन्य बैंकों के भी अपने मोबाइल ऐप होते हैं।

    2. "Forgot MPIN" विकल्प ढूंढें:

    एक बार जब आप अपना बैंक का मोबाइल ऐप खोल लेते हैं, तो आपको "Forgot MPIN" या "Reset MPIN" नाम का एक विकल्प ढूंढना होगा। यह आमतौर पर लॉगिन स्क्रीन या मेनू में पाया जाता है।

    3. मांगी गई जानकारी दर्ज करें:

    आपको अपना डेबिट कार्ड नंबर, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या अन्य आवश्यक जानकारी दर्ज करने के लिए कहा जाएगा। यह जानकारी आपके बैंक के ऐप के आधार पर भिन्न हो सकती है।

    4. मोबाइल OTP दर्ज करें:

    आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक OTP (वन टाइम पासवर्ड) प्राप्त होगा। OTP दर्ज करें और "Next" या "Submit" बटन पर क्लिक करें।

    5. नया पिन बनाएं:

    अब आपको एक नया एमपिन बनाने के लिए कहा जाएगा। यह एक मजबूत पिन होना चाहिए जिसे याद रखना आसान हो लेकिन अनुमान लगाना मुश्किल हो।

    6. पुष्टि करें और सहेजें:

    अपना नया एमपिन दोबारा दर्ज करें और इसे सहेजें। आपका एमपिन अब रीसेट हो जाएगा।

    ध्यान दें:

    • यदि आपके पास आपका एटीएम कार्ड नम्बर और या रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर नहीं है, तो आपको अपनी बैंक शाखा में जाना होगा। कुछ बैंक आपको बिना एटीएम का उपयोग किये अपना एमपिन रीसेट करने की अनुमति दे सकते हैं।
    • कभी भी अपना एमपिन किसी के साथ साझा न करें।
    • यदि आपको लगता है कि आपके एमपिन का दुरुपयोग किया गया है, तो तुरंत अपने बैंक को सूचित करें।

    निष्कर्ष 

    आज के डिजिटल युग में, एमपिन (MPIN) एक आवश्यक सुरक्षा उपकरण बन गया है। यह न केवल आपके डिजिटल लेनदेन को सुरक्षित रखने में मदद करता है, बल्कि यह आपके बैंक खाते को अनधिकृत पहुंच से बचाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस पोस्ट के माध्यम से आप जान गए होंगे एमपिन क्या होता है, और Mpin Kaise Prapt Kare अब आप जब चाहें तब अपना MPIN बदल सकते हैं और भूल जाएँ तो बना सकते हैं।

    क्या आपको यह ब्लॉग पोस्ट उपयोगी लगी? क्या आपने एमपिन के बारे में कुछ नया सीखा?

    अपने विचार कमेंट में जरूर बताएं!

    इस ब्लॉग पोस्ट को अपने दोस्तों और परिवार के साथ साझा करें ताकि वे भी एमपिन के बारे में जान सकें और इसका उपयोग करके अपने डिजिटल लेनदेन को सुरक्षित रख सकें।

    आपके योगदान के लिए धन्यवाद!

    यह भी पढ़ें:

    मोबाइल से SBI MPIN कैसे बनायें CLICK HERE
    एटीएम फॉर्म कैसे भरें CLICK HERE
    एटीएम कार्ड ऑनलाइन आर्डर कैसे करें CLICK HERE
    एटीएम कार्ड कहां पहुंचा कैसे पता करें.CLICK HERE
    ऑनलाइन 0 बैलेंस बैंक खाता कैसे खोलें CLICK HERE

    Post a Comment

    0Comments

    Post a Comment (0)